Mohit Trendy Baba's few lucky saved works from defunct websites, forums, blogs or sites requiring visitor registration....

Monday, April 1, 2013

वो ऐतिहासिक घटना (Must Read)

Mr. Mayank Sharma

**ये है मयंक शर्मा जी। कोई फोटो नहीं मिल रहा था तो इस घटना के एक किरदार की ही फोटो लगा रहा हूँ।**

आज एक अनुभव बाँटना चाहता हूँ। एक कॉमिक पब्लिशर से मेरी अच्छी बात होती थी, एक बार मैंने जो कमियाँ-बातें नोट की थी वो एक शुभचिंतक के नाते उन्हें ईमानदारी से बताई क्योकि वो उम्र, अनुभव मे मुझसे बड़े थे तो काफी संभल कर डिप्लोमेटिक तरीके से समझाया। उन्होंने इसको बे सर-पैर की आलोचना कहा और मुझे बताया की मेरे सर कुछ ख़ास कॉमिक कंपनियों का भूत चढ़ा है। मुझे ये भी हिंट दी कि अब थोडा मेच्योर होकर ही उन्हें कोई सलाह दूँ या बात करूँ।

सच कहूँ मेरा कोई लालच नहीं था, उनसे काफी ज्यादा बुक्स छाप चुका हूँ और अपनी मर्ज़ी से उतना कामर्शियल नहीं हुआ अभी तक। मै बस चाह रहा था की पहले से ही इतनी कम कंपनियाँ है, जो है वो और बेहतर हो जाएँ, काफी टाइम बिताया है इस फ़ील्ड में सबको देखते हुए, सबसे मिलते हुए ....बात करते हुए। उसी बिनाह पर उनसे कुछ कहाl मैंने बुरा नहीं माना पर बाद मे पता चला की इनकी इस तरह की बहस यहाँ तक की लड़ाइयाँ हो चुकी है आर्टिस्ट्स, राइटर्स, फेंस और इंडस्ट्री से जुड़े लोगो से, थोड़ी शान्ति मिली नहीं तो मुझे लगता मैंने कुछ गलती की होगी।

अब 2013 कॉमिक कॉन, दिल्ली गया। वहाँ वो थे (ज्यादा नहीं बताऊंगा नहीं तो ओबवियस हो जाएगा), अच्छा लगा उन्हें देख कर, उन्होंने मुझे पहचान भी लिया। हालाँकि, आई मस्ट एडमिट वो बिजी नहीं थे पर बन रहे थे क्योकि ये मै अक्सर करता हूँ इसलिए पहचान लिया ...ही ही।

मुझे वहाँ मयंक भैया मिले, उनके साथ ही घूमा। सबके साथ फोटोज लेते हुए लगा की एक फोटो तो उन पब्लिशर के साथ भी होना चाहिए उन्होंने पैसा (चाहे पुश्तैनी ही सही), समय और मेहनत दी है इस फील्ड में। मैंने उनसे फोटो कि रिक्वेस्ट की। अब तक सब ठीक था। पर इसके आगे जो हुआ वो पहले नहीं हुआ। मेरी हाईट 6 फीट 1-2 इंच है जो भारतीय एवरेज के हिसाब से ज्यादा है, ये भगवान् की दी हुई चीज़ें है किसी बन्दे को किसी चीज़ या बात मे एडवांटेज है तो किसी बन्दे को किसी और बात मे ....ये कोई शर्म करने वाली या घमंड करने वाली बात नहीं। ये बात मैंने क्यों बताई .....मयंक भाई हमारी फोटो क्लिक करने वाले है और ये हस्ती जो मेरे साथ खडें है वो उचक रहे है .... उनके जूते की हील काफी नहीं थी ....मुझे विशवास ही नहीं हुआ की ये कर क्या रहा है बंदा ...मन तो किया मै भी उचक जाऊं फिर क्या कुर्सी-स्टूल पर चढ़कर खिंचवायेगा?......पर उचकना ताकि एक फोटो भर में आप एक दूसरे बंदे के बराबर आ सको। भक! मर जाओ बे तुम!!! गधे कहीं के ....वो फोटो भी कभी नहीं लगाऊंगा।

- Mohit Sharma (Trendy Baba)

No comments:

Post a Comment