Mohit Trendy Baba's few lucky saved works from defunct websites, forums, blogs or sites requiring visitor registration....

Monday, August 25, 2014

आपातकाल में टिप्स - मोहित शर्मा ज़हन

नमस्ते! 
आप कहीं भी रहते हों यह ऐसा खतरा है जिसकी संभावना काफी कम है पर मुझे लगता है भविष्य में यह संभावना और बढ़ेगी ही। सोचिये आपके निवास स्थान के आस-पास दूसरे धर्म के दंगाइयों की भीड़ उपद्रव कर रही है। तो मुझे असल में आप लोगो के सुझाव चाहिए की ऐसी इमरजेंसी में मेरे जैसे आम बन्दे के पास क्या-क्या विकल्प होंगे? ध्यान रहे आम जनता के पास बन्दूक का लाइसेंस नहीं होता क्योकि इस प्रक्रिया में जो झंझट होते है वो आम लोगो के बस के बाहर होते है इसलिए अधिकतर जनता नहीं बनवाती या बनवा पाती। सुरक्षा, सावधानी, आपातकाल के समय के कदम, (आपातकाल भी दो तरह का - एक घर मे बंद रहने वाला और एक मौत बिलकुल सामने वाली इमरजेंसी के समय के टिप्स)...

Note: यह आत्मरक्षा सुझाव है, मैं किसी के घर हमले या किसी के खिलाफ मोर्चा लेने को नहीं कह रहा। 


*) - जैसे घर के कुछ बिना बात के वीरान कोने होते है, फिर स्टोर रूम्स, दुछत्तियाँ आदि होती है। एक फ्लैट में भी थोड़ी बहुत जगह निकल आती है। तो पहली सलाह तो की आप एसिड/तेज़ाब की बोतलें रखें अच्छी संख्या में। घर के बाहर अगर छोटी भीड़ है तो छत से कुछ बोतलों का तेज़ाब उन्हें तितर बितर कर देगा और डरा भी देगा लगातार हमला की इतनी सारी बोतलें फेंकी है तो पता नहीं और कितनी पड़ी होंगी इनके पास।


*) - मेरे घर में 2 तलवार और एक फरसा है शोपीज़ टाइप थे अब स्टोर के एक कोने में पड़े है तो शोपीज़ की आड़ में ही सही फैंसी मयान में तलवारें-कटारे रखें। मैं यह नहीं कह रहा की समुराई बन जायें पर थोड़ी बहुत कसरत और प्रैक्टिस करें की असल में अगर 1 ऑन 1 या 1 ऑन 2 की स्थिति आये तो आपका हैंड ऑय कोऑर्डिनेशन यानी आँखों-हाथो-शरीर का तालमेल बेटर रहे। पहली बार आप किसी चीज़ को हथियार की तरह शैडो प्रैक्टिस करें, बड़ा अजीब लगेगा और ढंग से कर भी नहीं पाएंगे।

*) - दंगे-फसाद के समय घर की हालत ऐसी रखिये या दिखाइये की यहाँ तोड़-फोड़ आगजनी हो चुकी है, खासकर जब घर में महिलाएँ हों। बाइक-स्कूटर पलटा कर, बाहर कुछ टायर्स या फर्नीचर जला कर आप धुएँ और गर्मी का फायदा उठा सकते है। जब इतने विकल्प होंगे तो भीड़ का रैला नहीं आएगा घर के बाहर धुएँ और गर्मी की वजह से.....पर जो कुछ आएंगे उनसे निपटा जा सकता है पर 60-70 लोगो की भीड़ से नहीं।

*) - घर में कुछ जगहें, कोने होते है जहाँ अगर कोई काफी देर ढूंढे तभी छुपने वाला मिले या मिले ही ना। ऐसी जगहों के बारे में सोचिये अगर नहीं सोचा है अभी तक खासकर घर की महिलाओं को ध्यान में रख कर। घर में रहने वालो के लिए कुछ बालकनी, बाथरूम, जीनो से ऐसे रास्ते, दरवाज़े होते है जहाँ से आप बड़ी भीड़ को चकमा देकर खुली दौड़ भाग सकते है या झाड़ियों में छुप सकते है या नाले में कूद सकते है (he he)....जैसी घर लोकेशन हो।

*) - भीड़ को भीड़ काट सकती है, तो ये कल्पना अपने पड़ोसियों और कॉलोनी में बाँटे। छत मिले मकानो, आस-पास के फ्लैट्स के लोग एक दूसरे की जान बचा सकते है।

*) - मेरे एक मित्र ने कहा था "एक बिना लाइसेंसी ही सही छुपा कर बंदूक ज़रूर रखें।" [ध्यान रहे यह मैं नहीं कह रहा ;) ]

आप लोग ऐसी घटनाओं में क्या सलाह देंगे?

No comments:

Post a Comment